श्री राधामाधव देवस्थानम्

Shri Radha Madhav Devasthanam

मंदिर परिसर में दिव्य विशाल पीपल वृक्ष है जो काफी प्राचीन समय से अपनी दिव्यता एवं चमत्कारिक गुणों के कारण क्षेत्र की जनता में लोकप्रिय है। इस प्राचीन पीपल वृक्ष की ‘श्री लक्ष्मीनारायण पीपल’ के रूप में पूजा एवं सेवा की जाती है।
मंदिर परिसर में दिव्य विशाल पीपल वृक्ष है जो काफी प्राचीन समय से अपनी दिव्यता एवं चमत्कारिक गुणों के कारण क्षेत्र की जनता में लोकप्रिय है। इस प्राचीन पीपल वृक्ष की ‘श्री लक्ष्मीनारायण पीपल’ के रूप में पूजा एवं सेवा की जाती है।

पूजा एवं श्रृंगार

श्री राधामाधव देवस्थानम् में होने वाली पूजा एवं दक्षिणा

ganesha-archana

भगवान गणेश के एक हजार नाम से ‘दूब’ का अर्पण होता है। एक हजार दूब गणेश जी को चढ़ाया जाता है एवं गणेश जी को धूप, दीप, नैवेद्य, ताम्बूल, नारियल से पूजा की जाती है। चतुर्थी तिथि को इस पूजा का…..

श्री राधामाधव युगल भगवान- सहस्त्रार्चन पूजा

श्री राधामाधव युगल भगवान- सहस्त्रार्चन पूजा

भगवान श्री राधामाधव के एक हजार नाम से ‘तुलसी पत्र’ अर्पण किया जाता है। एक हजार तुलसी पत्र श्री राधामाधव को चढ़ाया जाता है एवं धूपदीप, नैवेद्य, ताम्बूल, नारियल से पूजा की जाती है। शनिवार को…..

hanuman-archana

श्री सिद्धेश्वर हनुमान-सहस्त्रार्चन पूजा

श्री सिद्धेश्वर हनुमान जी के एक हजार नाम से ‘सिंदूर’ पुष्प के साथ अर्पण किया जाता है। एक हजार लाल पुष्प के साथ सिंदूर मिलाकर श्री सिद्धेश्वर हनुमान जी को चढ़ाया जाता है एवं धूप, दीप, नैवेद्य, ताम्बूल…..

श्री सिद्धिदात्री दुर्गा-सहस्त्रार्चन पूजा

श्री सिद्धिदात्री दुर्गा जी के एक हजार नाम से लाल रंग के पुष्प अर्पण किया जाता है। एक हजार लाल रंग के पुष्प श्री सिद्धिदात्री दुर्गा जी को चढ़ाया जाता है एवं धूप, दीप, नैवेद्य, ताम्बूल, नारियल से पूजा की…..

shiva-archana

श्री माधवेश्वर महादेव-सहस्त्रार्चन पूजा

श्री माधवेश्वर महादेव जी को एक हजार नाम से ‘बिल्व पत्र’ चढ़ाया जाता है। एक हजार बिल्व पत्र भगवान श्री माधवेश्वर महादेव जी को अर्पण किया जाता है एवं धूप, दीप, नैवेद्य, ताम्बूल, नारियल से पूजा की…..

श्री सत्यनारायण कथा श्रवण

श्री सत्यनारायण कथा श्रवण

कलियुग में श्री सत्य नारायण की पूजा, कथा श्रवण एवं हवन करने तथा प्रसाद ग्रहण करने से जीवन में समस्त प्रकार के उपद्रव की शांति होती है। जो मानव सन्तान सुख, विवाह सुख, भौतिक संपदा का सुख…..

नवग्रह पूजा एवं हवन (नवग्रह शांति पूजा)

नवग्रह पूजा एवं हवन (नवग्रह शांति पूजा)

श्री सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध, गुरू, शुक्र, शनि, राहु, केतु ग्रह का षोडषोपचार से पूजा अर्थात् ध्यान, स्नान, वस्त्र, चंदन, तिलक, पुष्प, धूप, दीप, नैवेद्य, ताम्बूल, फल, नारियल से पूजा की जाती है एवं पूजन के उपरांत…..

श्री सिद्धि विनायक गणेश की महिमा

श्री सिद्धि विनायक गणेश की महिमा

मंदिर में भी श्री राधामाधव युगल भगवान के गर्भगृह से अग्निकोण में श्री सिद्धि विनायक प्रतिष्ठित है। यह चार भुजाओं से युक्त है। तथा इनकी सूढ के बाएं हाथ की तरफ मोदक को ग्रहण किये हुए हैं। यह कमल पर…..

श्री लक्ष्मी नारायण पीपल पूजा

श्री लक्ष्मी नारायण पीपल पूजा

प्रत्येक शनिवार श्री लक्ष्मीनारायण पीपल की पूजा एवं सायंकाल तिल के करने से दस से दीपदान करने तथा सात परिक्रमा करने से समस्त प्रकार के उपद्रवों की शांति होती है। जो मानव अकस्मात शत्रुपीड़ा…..

श्री गौरीशंकर वट वृक्ष पूजा

श्री गौरीशंकर वट वृक्ष पूजा

प्रत्येक माह की अमावस्या को श्री गौरीशंकर वट वृक्ष की पूजा एवं सायंकाल दीपदान करने से लक्ष्मी, सौभाग्य एवं निरोगता की प्राप्ति होती है। विशेष रूप से सुहागिन स्त्रियों को पति सुख, सन्तान सुख एवं…..

श्री राधामाधव पूजा सेवा के साथ अपनी पवित्र यात्रा शुरू करें

श्री मंदिर ऑनलाइन पूजा क्यों बुक करें?

10,00,000 +

पूजा हुई है

300,000 +

प्रसन्न भक्त

100 +

भारत के प्रसिद्ध मंदिर

1 Sankalp

सनातन धर्म का प्रचार-प्रसार

श्री राधामाधव मंदिर पूजा के बारे में भक्त क्या कहते हैं?

हमारे ग्राहकों से समीक्षाएं और रेटिंग जिन्होंने हमारे साथ ऑनलाइन पूजा की।

Scroll to Top